Success Khan Logo

रसायन विज्ञान

Objective type Questions, Notes for Govt Exams, current affairs, general knowledge, hindi objective questions, English objective questions, Mathematics objective Questions, Reasoning Objective Questions, study material for IBPS, study material for banks, study material for SSC, study material for DSSSB, Aptitude objective type Questions, Solved Question papers, Notes, Study Material, general knowledge questions and answers, gk questions and answers, hindi questions and answers, English questions and answers , mathematics questions and answers, reasoning questions and answers, current affairs questions and answers, general knowledge questions and answers for competitive Exams, gk questions and answers for competitive Exams, hindi questions and answers for competitive Exams, English questions and answers for competitive Exams, Mathematics questions and answers for competitive Exams, reasoning questions and answers for competitive Exams, current affairs questions and answers for competitive Exams, Railway jobs, banking job, corporate jobs, government jobs, govt jobs, private jobs, CPO, PCS, RRB, CDS, UPSC,Notes, Online Tests, practice sets, questions and answers with explanation for competitive examination, entrance test, Railway, IBPS, SSC, DSSSB, PCS, Banking for hindi, english, mathematics, reasoning, gk, current affairs and many more.

– रसायन विज्ञान, विज्ञान की वह शाखा है जिसमें पदार्थों के रासायनिक गुण तथा रासायनिक प्रतिक्रिया के फलस्वरूप होने वाले परिवर्तन का अध्ययन किया जाता है।

-पदार्थ तीन प्रकार के होते हैं—तत्त्व, यौगिक और मिश्रण ।

-तत्त्व दो प्रकार के होते हैं-धातु और अधातु ।

-प्रमाणु मुख्य रूप से तीन प्रकार के मौलिक कणों से बना होता है—इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन ।।

-प्रमाणु के केन्द्र में नाभिक रहता है जिसमें प्रोटॉन तथा न्यूट्रॉन रहते हैं।


-तत्त्व के नाभिक में उपस्थित प्रोटॉन की कुल संख्या को तत्त्व की परमाणु संख्या कहते हैं।

-किसी तत्व के परमाणु के नाभिक में उपस्थित प्रोटॉन की संख्या और न्यूट्रॉन की संख्या के योगफल को उस प्रमाणु का द्रव्यमान संख्या कहते हैं।

-एक ही तत्व के वे परमाणु जिनकी परमाणु संख्या समान किन्तु द्रव्यमान भिन्न-भिन्न होती है समस्थानिक (Isotopes) कहलाते हैं।

-वह क्रिया जिसके फलस्वरूप कुछ तत्व विकिरण उत्सर्जित करते हैं।
रेडियो सक्रियता (Radio activity) कहलाती है।

-a-किरणें हीलियम (he++) के नाभिक के समान हैं!

-B-किरणें ऋण आवेशित कण हैं।

-Y-किरणे विद्युत उदासीन होती हैं। ।

-वह क्रिया जिसके द्वारा वायु एवं नमी की उपस्थिति में लोहे की सतह पर भूरे रंग की पतली परत जम जाती है जंग लगना (Rusting) कहलाता है।

-विद्युत-ऊर्जा के उपयोग से जो रासायनिक प्रिक्रिया अभिक्रियाएँ करायी जाती है विद्युत अपघटन कहलाती हैं।

-आक्सीकरण यह रासायनिक प्रतिक्रिया है जिसमें कोई परमाण अथवा आयन एक या अधिक अधिक इलेक्ट्रॉनों का त्याग करता है।

-अवकरण वैसी रासायनिक प्रतिक्रिया है जिसमें कोई परमाणु अथवा आयन एक इलेक्ट्रान को ग्रहण करता है।

-कार्बन मोनोऑक्साइड गैस उदासीन है।

-अभिक्रियाओं को प्रेरित करने वाली क्रिया उत्प्रेरण (Catalysis) कहलाती है।

-कार्बन डाइऑक्साइड गैस अम्लीय होता है।

-पेड़-पौधे तथा जानवरों के शरीर में विद्यमान पदार्थ बायोमास कहलाता है।

-जानवरों तथा पेड़-पौधे से प्राप्त व्यर्थ पदार्थ सक्ष्म जीवों द्वारा जल की उपस्थिति में आसानी से सड़ते हैं। इस प्रक्रिया में मिथेन, कार्बन डाइऑक्साइड, हाइड्रोजन सल्फाइड आदि से निकलती हैं। इसी गैसीय मिश्रण को बायो गैस कहते हैं। इसमें लगभग 95% मिथेन रहता है जो एक उत्तम ईंधन है।

-प्राकृतिक गैस-प्राकृतिक गैस तेल कुओं से उफफल के रूप में प्राप्त किया जाता है। इस गैस का प्रधान अवयव मिथेन गैस है।

-द्रवित पेट्रोलियम गैस-यह नार्मल तथा आइसो ब्यूटेन का द्रवीभूत किया हुआ मिश्रण है।

-कोयला, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस जीवाश्म ईंधन (Fossil fuels) कहलाते हैं। पेट्रोलियम गैस, ईथेन, प्रोपेन तथा ब्यूटेन का मिश्रण होता है।

-डीजल तेल C13 से C15 तक कार्बन वाले हाइड्रोकार्बन का मिश्रण है।

-द्रव्यमान का ऊर्जा में परिवर्तन E = mc2 सूत्र के अनुसार होता है।

-सूर्य में पाया जानेवाला तत्त्व हाइड्रोजन है।

-नाभिकीय ईंधन-नाभिकीय रिएक्टर में प्रयुक्त वह पदार्थ जिसका विखण्डन कर ऊर्जा प्राप्त की जाती है।

-नाभिकीय विखण्डन – वह नाभिकीय अभिक्रिया जिसके फलस्वरूप एक भारी

-नाभिक विखण्डित होकर दो हल्के नाभिकों में परिवर्तित हो जाता है तथा ऊर्जा की विशाल राशि मुक्त करता है, नाभिकीय विखण्डन कहलाता है।

-नाभिकीय संलयन वह नाभिकीय अभिक्रिया जिसके फलस्वरूप दो हल्के नाभि

-परस्पर संयुक्त होकर एक भारी और स्थायी नाभिक का निर्माण करते हैं, नाभिकी संलयन कहलाती है।

-वह संयत्र जिस में नाभिकिय अभिक्रिया से उत्पन्न उष्मा ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा मे परिवर्तित किया जाता है नाभिकीय रिएक्टर (Nuclear reactor) कहलाता है।

-परमाणु ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए यूरेनियम तथा थोरियम नामक तत्त्वों का उपयोग किया जाता है।

-नाभिकीय रिएक्टर में मंदन के रूप में ग्रेफाइट तथा भारी जल का उपयोग होता है।

-किसी धातु का अन्य धातु या अधातु के साथ बना मिश्रण मिश्रधातु (Alo) कहलाता है।

-कॉपर पाइराइट ताँबा का सर्वप्रमुख अयस्क है।

-ड्यूरेलुमिन (Duralumin) अल्युमिनियम और कॉपर से बना एक मिश्र धातु है।

-स्टेनलेस स्टील लोहा, क्रोमियम और निकेल से बना एक मिश्रधात है। अर्थात लोहा को स्टेनलेस स्टील में परिवर्तित करने के लिए उसमें क्रोमियम और निकेल में मिलाया जाता है

-लोहा का सर्वप्रमुख अयस्क हेमेटाइट है।

-प्राकृतिक रबर को गंधक के साथ गर्म करने पर यह कड़ा और मजबूत हो जाता है। । यह क्रिया रबर का गंधकीकरण (Vulcanization of rubber) कहलाता है।

-लोहे को जंग से बचाने के लिए गैल्वेनीकृत करने में जस्ता (Zn) का उपयोग किया जाता है

-कार्बन और हाइड्रोजन के संयोग से बना कार्बनिक यौगिक हाइड्रोकार्बन कहलाता है भंजन (Cracking) वह रासायनिक क्रिया है जिस में उच्च अणु भार वाले हाइड्रोकार्बन ताप द्वारा निम्न अणु भार वाले हाइड्रोकार्बनों में अपघटित हो जाते है

-बहुलीकरण (Polymerization) वैसी रासायनिक अभिक्रिया है जिस में कि यौगिक के दो या दो से अधिक अणु जुड़कर बड़े अणु का निर्माण करने, अभिक्रिया के पश्चात् बने यौगिक बहुलक कहलाते हैं।

-किसी तत्त्व के विभिन्न रूपों में पाई जाने की घटना अपरूपता कहलाती है और विभिन्न रूप उस तत्त्व का अपरूप कहलाता है। जैसे-कोयला, हीरा तथा ग्रेम कार्बन के अपरूप हैं।

-ग्रेफाइट का उपयोग भारी मशीनों में स्नेहक (Lubricating agent) के रूप में किया जाता है।

-लाल फास्फोरस का उपोग दियासलाई बनाने में किया जाता है।

-फास्फोरस जानवरों की हड्डियों में कैल्शियम फास्फेट के रूप में पाया जाता है। गंधक का उपयोग चर्म रोगों की चिकित्सा में किया जाता है।

-हीरा कार्बन का सबसे शुद्ध रूप है।

-विरंजक चूर्ण का उपयोग कीटाणुनाशक के रूप में होता है।

-सोडियम बाइकार्बोनेट का उपयोग खानेवाले सोडा के रूप में होता है।

-सोडावाटर में कार्बन डाइऑक्साइड गैस का प्रयोग किया जाता है। संश्लिष्ट रेशे—संश्लिष्ट रेशे कई सरल अणुओं के संयोग से बने बहुलक होते हैं।

-प्लास्टिक प्लास्टिक वे पदार्थ हैं जिन्हें बड़ी आसानी से साँचे में ढालकर किसी भी वाँछित आकृति की वस्तु अमाई जा सकती है। प्लास्टिक वास्तव में संश्लिष्ट बहुलक होते हैं।

-पॉलिइथिलीन, पॉलिविनाइल क्लोराइड, नायलॉन, बैकेलाइट तथा मैलामाइन संश्लिष्ट बहुलक हैं।

-फिनॉल तथा फार्मेल्डिहाइड के अनेक अणु अभिक्रिया कर प्लास्टिक का निर्माण करते हैं जिसे बेकेलाइट कहा जाता है।

-रबर एक प्राकृतिक बहुलक है। यह एक असंतृप्त हाइड्रोकार्बन आइसोप्रीन का बहुलक है।

-थायोकॉल एक संश्लिष्ट रबर है।

-साबुन- साबुन लम्बी श्रृंखला वाले कार्बोक्सिलिक अम्लों (या वसीय अम्लो) का सोडियम लवण होता है। सामान्य साबुन स्टिएरिक अम्ल, ओलिएक अम्ल तथा पामिटिक अम्ल का सोडियम लवण होता है।

-साबुन बनाने की प्रक्रिया को सैपोनिफिकेशन कहा जाता है।

-अपमार्जक-कपड़ा धोने तथा अन्य वस्तुओं की सफाई करने के लिए उपयोग किए जाने वाले पदार्थ को अपमार्जक कहते हैं। अपमार्जक लम्बी श्रृंखला वाले एल्काइल हाइड्रोजन सल्फेट का सोडियम लवण होता है।

-संश्लिष्ट रेशा (Synthetic fibre) कई सरल अणाओं के संयोग से बना बहुलक है जसे कृत्रिम तरीके से प्रयोगशालाओं में तैयार किया जाता है। रेयान, नायलॉन, पॉलिएस्टर इसके प्रमुख उदाहरण हैं।

-पिरीडिन-कार्बन, हाइड्रोजन तथा नाइट्रोजन का यौगिक है।

Objective type Questions, Notes for Govt Exams, current affairs, general knowledge, hindi objective questions, English objective questions, Mathematics objective Questions, Reasoning Objective Questions, study material for IBPS, study material for banks, study material for SSC, study material for DSSSB, Aptitude objective type Questions, Solved Question papers, Notes, Study Material, general knowledge questions and answers, gk questions and answers, hindi questions and answers, English questions and answers , mathematics questions and answers, reasoning questions and answers, current affairs questions and answers, general knowledge questions and answers for competitive Exams, gk questions and answers for competitive Exams, hindi questions and answers for competitive Exams, English questions and answers for competitive Exams, Mathematics questions and answers for competitive Exams, reasoning questions and answers for competitive Exams, current affairs questions and answers for competitive Exams, Railway jobs, banking job, corporate jobs, government jobs, govt jobs, private jobs, CPO, PCS, RRB, CDS, UPSC,Notes, Online Tests, practice sets, questions and answers with explanation for competitive examination, entrance test, Railway, IBPS, SSC, DSSSB, PCS, Banking for hindi, english, mathematics, reasoning, gk, current affairs and many more.





Percentage Practice Set – Mathematics
READ MORE

Percentage Practice Set – Mathematics

33

Percentage Practice Set – Mathematics
READ MORE

Percentage Practice Set – Mathematics

26

Percentage Practice Set – Mathematics
READ MORE

Percentage Practice Set – Mathematics

56

Percentage Practice Set – Mathematics
READ MORE

Percentage Practice Set – Mathematics

45

Comparison of Fraction Mathematics – Practice Set
READ MORE

Comparison of Fraction Mathematics – Practice Set

147

Comparison of Fraction Mathematics – Practice Set
READ MORE

Comparison of Fraction Mathematics – Practice Set

82

Search


Explore