Success Khan Logo

जीव विज्ञान

Objective type Questions, Notes for Govt Exams, current affairs, general knowledge, hindi objective questions, English objective questions, Mathematics objective Questions, Reasoning Objective Questions, study material for IBPS, study material for banks, study material for SSC, study material for DSSSB, Aptitude objective type Questions, Solved Question papers, Notes, Study Material, general knowledge questions and answers, gk questions and answers, hindi questions and answers, English questions and answers , mathematics questions and answers, reasoning questions and answers, current affairs questions and answers, general knowledge questions and answers for competitive Exams, gk questions and answers for competitive Exams, hindi questions and answers for competitive Exams, English questions and answers for competitive Exams, Mathematics questions and answers for competitive Exams, reasoning questions and answers for competitive Exams, current affairs questions and answers for competitive Exams, Railway jobs, banking job, corporate jobs, government jobs, govt jobs, private jobs, CPO, PCS, RRB, CDS, UPSC,Notes, Online Tests, practice sets, questions and answers with explanation for competitive examination, entrance test, Railway, IBPS, SSC, DSSSB, PCS, Banking for hindi, english, mathematics, reasoning, gk, current affairs and many more.

जीव विज्ञान (Biology)-विज्ञान की वह शाखा जिसके अन्तर्गत जीवों के उद्भव, विकास, आहार, जनन आदि अनेक जैविक क्रियाओं का अध्ययन किया जाता है उसे जीव विज्ञान कहा जाता है। इस विज्ञान को दो भागों में बाँटा गया। है–(i) वनस्पति विज्ञान (Botany) तथा (ii) जन्तु विज्ञान (Zoology).

वनस्पति विज्ञान (Botany)-जीव विज्ञान की उस शाखा को वनस्पति विज्ञान का कहा जाता है जिसमें पौधों के रूप, आकार, संरचना तथा इनके अंगों के कार्यों का अध्ययन किया जाता है।

पौधों (Plants) के शरीर को मुख्य रूप से पाँच भागों में बाँटा गया है-(i) जड़ (ii) तना, (iii) पत्ता, (iv) फूल और (V) फल ।।

जड़ (Roots)-यह पौधे का सबसे नीचला भाग है जिसका सम्पर्क पृथ्वी से होता है। यह पौधों को जमीन पर खड़ा रहने में मदद करती है। पौधे इनके द्वारा भूमि के भीतर से जल एवं खनिज लवण घोल के रूप में ग्रहण कर पत्तियों तक पहुँचाते हैं।

तना (Trunk)-तना में मोटी-मोटी डालियाँ और टहनियाँ लगी रहता है। टहनियों में पत्ते लगे रहते हैं। तना में जाइलम (Xylem) और फ्लोएम (Phloem) तंतु रहते
हैं जो जल एवं खनिज पदार्थ नट जड़ लेकर पत्तियों तक पहुँचाते हैं और पत्तियों में बने भोजन को जड़ तक पहुँचाते हैं। आलू, प्याज, गन्ना अपने तनों में भोजन संग्रह करते हैं।

पत्ता (Leaf)- पतों की कोशिकाओं में पर्णहरित (Chlorophyll) रहता है। पौधे जड़ से जल तथा हवा से कार्बन डाइऑक्साइड प्राप्त करते हैं तथा सूर्य के प्रकाश में पर्णहरित हवा से कार्य में पर्णहरित की सहायता से कार्बोहाइड्रेट का निर्माण करते हैं। पौधे अपना भोजन पतो में तैयार करते हैं। पौधों में प्रकाश संश्लेषण श्वसन और वाष्पोत्सर्जन की क्रियाएँ पत्तों द्वारा होती हैं। इन्हीं सब कारणों से पत्तों को पौधों का कारखाना कहा जाता है।

फूल (Flower)– फूलों में पुकेसर (Stamen) तथा अण्डप (Pistil) होते हैं। जिनके कारण बीज बनता है और पौधों की प्रजनन क्रिया कायम रहती है।

फल (Fruits)– फलो में पौधों के बीज रहते हैं, जो पौधों के प्रजनन को कायम रखते हैं।

परागण (Pollination)-अधिकांश पुष्पों में पुकेसर (Stamen) तथा अण्डप (Pistil) दोनो होते हैं। अण्डप के सिरा भाग को वर्तिकाग्र (Stigma) कहा जाता है वर्तिकाग्र के चारों ओर पुंकेसर रहता है। पुंकेसर के सिरे पर परागकोष रहता है। पराग परागकोष से निकलकर वर्तिकाग्रों पर गिरता है तथा अंडाशय को निषेचित करता है। पुष्पों के इस निषेचन क्रिया को परागन (Pollination) कहा जाता है।

पर्णहरित (Chlorophyll)-कवकों के अतिरिक्त सभी वर्ग के पौधों में हरे रंग का वर्णक पाया जाता है जिसके कारण पौधों का रंग हरा दिखता है। इसे पर्णहरित (Chlorophyll) कहा जाता है। इसके अणु में कार्बन, हाइड्रोजन, ऑक्सीजन, नाइट्रोजन एवं मैग्नेशियम के परमाणु रहते हैं। पौधों में प्रकाश संश्लेषण पर्णहरित की उपस्थिति में होता है।

कोशिका (Cell)-किसी भी सजीव की रचनात्मक, क्रियात्मक एवं अनुवांशिक इकाई को कोशिका कहा जाता है तथा इसके अध्ययन को Cytology कहा जाता है।

– कोशिका की खोज सर्वप्रथम हुक नामक वैज्ञानिक ने 1665 ई० में की थी।

– सजीवों का आधारभूत पदार्थ जीवद्रव्य (Protoplasm) कहलाता है।

– माइटोकोडिया को कोशिका का ऊर्जा-गृह (Energy house) कहा जाता है।

– हरितलवक पादप कोशिका का खाद्य कारखाना कहलाता है।

– राइबोसोम का कार्य प्रोटीन संश्लेषण करना है तथा लाइसोसोम को आत्महत्या की थैली कहा जाता है।

– जीन (Gene) एक अनुवांशिक इकाई है। यह जीवों में गुणों का निर्धारण करता है।

– R.N.A., राइबोसोम का अंग है तथा इसका कार्य प्रोटीन संश्लेषण करना है।

Objective type Questions, Notes for Govt Exams, current affairs, general knowledge, hindi objective questions, English objective questions, Mathematics objective Questions, Reasoning Objective Questions, study material for IBPS, study material for banks, study material for SSC, study material for DSSSB, Aptitude objective type Questions, Solved Question papers, Notes, Study Material, general knowledge questions and answers, gk questions and answers, hindi questions and answers, English questions and answers , mathematics questions and answers, reasoning questions and answers, current affairs questions and answers, general knowledge questions and answers for competitive Exams, gk questions and answers for competitive Exams, hindi questions and answers for competitive Exams, English questions and answers for competitive Exams, Mathematics questions and answers for competitive Exams, reasoning questions and answers for competitive Exams, current affairs questions and answers for competitive Exams, Railway jobs, banking job, corporate jobs, government jobs, govt jobs, private jobs, CPO, PCS, RRB, CDS, UPSC,Notes, Online Tests, practice sets, questions and answers with explanation for competitive examination, entrance test, Railway, IBPS, SSC, DSSSB, PCS, Banking for hindi, english, mathematics, reasoning, gk, current affairs and many more.





Hindi Model Test Paper – 10
READ MORE

Hindi Model Test Paper – 10

74

Hindi Model Test Paper – 10
READ MORE

Hindi Model Test Paper – 10

19

Hindi Model Test Paper – 10
READ MORE

Hindi Model Test Paper – 10

18

Hindi Model Test Paper – 10
READ MORE

Hindi Model Test Paper – 10

13

Hindi Model Test Paper – 10
READ MORE

Hindi Model Test Paper – 10

8

Hindi Model Test Paper – 9
READ MORE

Hindi Model Test Paper – 9

15

Search


Explore